Every one is speaking about the protection and pre-serration of environment.
Global summits are being held regularly to discuss environmental issues.
All this shows the increasing importance of environment.
Besides, it is a fact that life is tied with the environment.

Previous Next

fight against and reduce the Global Warming

Global Warming is a dramatically urgent and serious problem. We don’t need to wait for governments to find a solution for this problem: each individual can bring an important help adopting a more responsible lifestyle: starting from little, everyday things. It’s the only reasonable way to save our planet, before it is too late.


"Green is the prime color of the world, and that from which its loveliness arises" - Pedro Calderon de la Barc


more articles
aircraft

लुप्तप्राय प्रजातिय महान एप गोरिल्लास

गोरिल्ला सबसे शक्तिशाली और हड़ताली जानवर हैं, न केवल उनके आकार और शक्ति के लिए वे स्थानीय जैव विविधता में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, बड़े क्षेत्रों के माध्यम से रोमिंग करते हैं और उदाहरण के लिए फल की बीजों को उपभोग करते हैं।

Read More

aircraft

बाघों की देश में वर्तमान स्थिति

बाघों की सुरक्षा अब ड्रोन कैमरे से भी होगी। बाघ संरक्षण परियोजना वाले जंगलों के ऊपर जल्द ही ड्रोन कैमरों से निगरानी की जाएगी। ताकि कोई शिकारी या तस्कर बाघों को मार या क्षति न पहुंचा सके। ड्रोन बाघों के निवास और प्रजातियों के प्रबंधन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इस तकनीक का इस्तेमाल राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) और भारतीय वन्यजीव संस्थान (डब्ल्यूआईआई), देहरादून के द्वारा प्रस्तावित है।

Read More

aircraft

ओडिशा जनगणना में 181 इरावदी डॉल्फिन गिने गए

चिल्का झील में वर्ष 2015 में 144 की तुलना में इस वर्ष 134 डॉल्फिन हो जाने के कारण इनकी संख्या में गिरावट दर्ज की गयी है। राज्य के वन एवं पर्यावरण विभाग द्वारा 20 जनवरी 2017 को की गयी एक जनगणना के अनुसार, 181 लुप्तप्राय इरावदी डॉल्फिन ओडिशा में देखी गयी है।

Read More

aircraft

वन्यजीवों पर मंडराता संकट

हाल ही में उत्तर प्रदेश के अमेठी में एसटीएफ ने पुलिस व वन विभाग की टीम के साथ मिल कर एक ट्रक से तस्करी के लिए जा रहे 4.40 टन कछुओं को पकड़ा। देश में अब तक कछुओं की तस्करी का यह सबसे बड़ा मामला बताया जा रहा है। बरामद कछुओं की कीमत दो करोड़ से भी अधिक बताई जा रही है। दरअसल, कछुओं की लगभग दो सौ प्रजातियां होती हैं लेकिन हमारे देश में पचपन प्रजातियां ही पाई जाती हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण ही है कि आज

Read More


  • Read More Article